हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है?/Hadappa sabhyata ka poorv se pashchim tak ka vistaar kitana hai?

हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है: नमस्कार दोस्तों हमारे वेबसाइट पर आप लोगों का बहुत-बहुत स्वागत है आज हम आप लोगों को बताने वाले हैं हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं अपने इस पोस्ट के माध्यम से और आप लोगों को बताने वाले हैं कि हड़प्पा सभ्यता के विस्तार के कारण कौन-कौन हैं और हड़प्पा सभ्यता का भौगोलिक विस्तार क्या है और हड़प्पा सभ्यता का पतन कैसे हुआ इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं आप लोगों को बताने वाले हैं हड़प्पा सभ्यता के लोग किस तरह के निवासी थे हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण क्या थे इसके बारे में आप लोगों को पूरी इंफॉर्मेशन देने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है तो आप लोगों को बता दें एक हड़प्पाई मुहर मोहनजोदड़ो और हड़प्पा एक दूसरे से काफ़ी दूरी पर हैं। दोनों स्थानों पर इन खंडहरों की खोज मात्र एक संयोग थी जिन्हें प्राचीन मनुष्य ने बसाया होगा। यह सभ्यता विशेष रूप से उत्तर भारत में दूर-दूर तक फैली थी हालांकि आप लोगों को बता दें कि 18 पाई मुहर मोहनजोदड़ो और हड़प्पा एक दूसरे से काफी दूरी पर हैं दोनों स्थानों पर इन खंडहरों की खोज मात्र एक संयोग थी इस बात में संदेह नहीं कि इन दोनों के बीच में ऐसे ही बहुत से और नगर हुए अवशेष दबे पड़े होंगे जिन्हें प्राचीन मनुष्य ने बताया होगा या सभ्यता विशेष रूप से उत्तर भारत में दूर-दूर तक फैली है हड़प्पा सभ्यता का कुल क्षेत्रफल 12,99,600 वर्ग किलोमीटर है हड़प्पा सभ्यता का विस्तार उत्तर से दक्षिण तक के 11 100 किलोमीटर तथा पूर्व से पश्चिम तक 1550 किलोमीटर है तो जानकारी के लिए आप लोगों को बताने की हड़प्पा के बारे में अगर सभ्यता विस्तार का कारण अगर आप लोग पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप लोग नीचे पोस्ट के माध्यम से बहुत ही आसानी से इंफॉर्मेशन प्राप्त कर सकते हैं

Table of Contents

हड़प्पा सभ्यता के विस्तार के कारण/Reasons for the expansion of the Harappan civilization

हड़प्पा सभ्यता के विस्तार के कारण कौन कौन है इसके बारे में आप लोगों को बताने वाले हैं हड़प्पा का विस्तार दक्षिण और पूर्व के विषय में दिशा में हुआ था हड़प्पा की खोज 1826 ईस्वी में हुई थी इस प्रकार हड़प्पा संस्कृति के अंतर्गत पंजाब सिंध और बलूचिस्तान के भाग बल्कि गुजरात राजस्थान हरियाणा और पश्चिम उत्तर प्रदेश के सीमांत भाग भी थे हालांकि आप लोगों को बता दें कि साहनी द्वारा और दूसरे की आईडी बनर्जी द्वारा खोजो के आधार पर हड़प्पा की सभ्यता को 26 वर्ष पूर्व 19 वर्ष पूर्व के कालखंड के बीच माना गया है और यह विश्व की प्राचीनतम सभ्यता में से एक है

  • हड़प्पा का विस्तार दक्षिण और पूर्व की दिशा में हुआ
  • हड़प्पा सभ्यता में जल निकासी प्रणाली बहुत प्रभावी थी
  • 1921 में दयाराम साहनी ने हड़प्पा का उत्खनन किया
  • जली हुई ईटों का प्रयोग हड़प्पा सभ्यता की एक प्रमुख विशेषता थी
  • हड़प्पा की खोज 1826 में हुई थी

हड़प्पा सभ्यता के विस्तार के कारण कौन-कौन हैं तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा जली हुई ईटों का प्रयोग हड़प्पा सभ्यता के प्रमुख विशेषता है 1923 में दयाराम साहनी ने हड़प्पा का उत्खनन किया था हड़प्पा का सभ्यता में जल निकासी प्राणी बहुत ही प्रभावी है और हड़प्पा की खोज 1826 से ईस्वी में हुई थी हड़प्पा का विस्तार दक्षिण और पूर्व के दिशा में हुआ था और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा पूर्वोत्तर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का एक पुरातत्विक स्थल है या साहिवाल शहर से 20 किलोमीटर पश्चिम से रावी नदी किनारे स्थित है सिंधु घाटी सभ्यता के अनेकों उसे यहां से प्राप्त हुए हैं सिंधु घाटी सभ्यता के इस शहर के नाम के कारण हड़प्पा सभ्यता भी कहा जाता है

हड़प्पा सभ्यता का भौगोलिक विस्तार/Geographical expansion of the Harappan civilization

हड़प्पा सभ्यता का भौगोलिक विस्तार क्या है तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता का कुल क्षेत्रफल 12,99,600 वर्ग किलोमीटर है हड़प्पा सभ्यता का विस्तार उत्तर से दक्षिण तक 1100 किलोमीटर तथा पूर्व से पश्चिम तक 1550 किलोमीटर है भारत के अतीत की सबसे पहली तस्वीर उस सिंधु घाटी सभ्यता में मिलती है जिसके अवशेष छिंद में मोहनजोदड़ो और पश्चिमी पंजाब में हड़प्पा में मिले हैं इन खुदाई यों ने प्राचीन इतिहास की समझ में क्रांति ला दी है एक हड़प आई एम मुहर मोहन जोदड़ो और हड़प्पा एक दूसरे से काफी दूरी पर हैं और जानकारी के लिए आप लोगों को बताने वाले हैं कि हड़प्पा का सामाजिक जीवन क्या है समाज मुख्यता मारते शैतान माता कथा लोगों के बीच मजबूत है परिवारिक संगठन पर सामाजिक मनोरंजन में जंगली जानवरों का शिकार करना बुल फाइटिंग फिटिंग और क्ले मॉडलिंग शामिल हैं कारीगरों के बच्चों को क्राफ्टिंग का कौशल अपने माता-पिता के विरासत में मिला है

हड़प्पा सभ्यता का पतन कैसे हुआ/How did the Harappan civilization decline?

हड़प्पा सभ्यता का पतन कैसे हुआ इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि इस के पतन के लिए विद्यालयों ने कई कारण बताए हैं जैसे बाढ़ आर्यों का आक्रमण जलवायु परिवर्तन भारतीय के परिवर्तन व्यापार में गतिरोध प्रशासनिक शिथिलता महामारी ओम संसाधनों का अधिक उपयोग आधे हुआ है हालांकि अधिकांश विद्वानों के मतानुसार इस सभ्यता का अंत बाढ़ का प्रकोप से हुआ है वह लोग बताते हैं कि इस का प्रकोप बाढ़ से हुआ है तू कि सिंधु घाटी सभ्यता नदियों के किनारे किनारे विकसित हुई इसलिए बाहर आना स्वाभाविक था अतः यह तर्क सर्वमान्य है परंतु कुछ विद्वान मानते हैं कि केवल बाढ़ के कारण इतनी विशाल सभ्यता का समाप्त नहीं हो सकता और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों को या हड़प्पा के लोगों को लोहे की जानकारी नहीं थी और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि पाकिस्तान हड़प्पा मोहनजोदड़ो में करीब 100 साल पहले 1920 सिंधु घाटी सभ्यता के अवशेषों की खुदाई में मिला तांबा क्या राजस्थान के खेतड़ी की खानों में पहुंचाया गया था इस सवाल का जवाब ढूंढने के लिए अमेरिका और जयपुर भूवैज्ञानिक के प्राथमिक एवं शोध शुरू करने जा रहे हैं

हड़प्पा सभ्यता के लोग किस तरह के निवासी थे/What kind of people were the people of the Harappan civilization

हड़प्पा सभ्यता के लोग किस तरह के निवासी थे इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि जो हड़प्पा है उसके सभ्यता के निवासी किस तरह थे हड़प्पा सभ्यता के निवासी कई प्रकार के पेड़ पौधे से प्राप्त उत्पाद और जानवरों दिन में मछली भी शामिल है से अपना भोजन प्राप्त करते थे और जले अनाज के दानों तथा बीजों की खोज प्राप्त वृत्ति आहार संबंधी आदतों के विषय में जानकारी प्राप्त करने में सफल हो पाए थे हालांकि आप लोगों को बता दें स्थलों से प्राप्त हुए चावल के दानों अपेक्षाकृत कम पाए गए थे और आप लोगों को बता दें कि लोग कई प्रकार के पेड़ पौधों तथा जानवरों से भोजन प्राप्त करते थे मछली उनका प्रमुख आहार था उनके अनाजों में गेहूं जो दाल सफेद चना तथा तिल शामिल थे इन अनाजों के दाने कई हड़प्पा स्थलों में मिले थे और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें विगत दशकों में भारतीय प्राइवेट ते के क्षेत्र में कई अन्वेषण एवं उत्खनन हुए फल स्वरुप अनेकता में संस्कृतियों के अस्तित्व की जानकारी मिलेगी या हड़प्पा के नागरिक को तर अवस्था एवं उप हिंदू संस्कृति के नाम से भी जानी जाती है योग की दृष्टि से ताम्र पाषाण काल में आता है

हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने का कारण क्या था/What was the reason for the destruction of the Harappan civilization?

हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण कौन कौन है इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं हाला की जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि जो हड़प्पा के लोग रहते हैं और कुत्तों जैसे पालतू जानवरों को पालते हैं थे बिल्ली की को बर्ड वाला बैल और साइट हरण मवेशी जबकि हमारे पास घरेलू मुर्गी ऊंट भैंस और सूअर के भी प्रणाम होते हैं हालांकि आप लोगों को बता दें सिंधु घाटी की सभ्यता 3300-1700 ईसापुर में विश्व की प्राचीन नदी घाटी सभ्यता में से एक प्रमुख सभ्यता थी या हड़प्पा सभ्यता और सिंधु सरस्वती सभ्यता के नाम से भी जानी जाती है और आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण जानने के लिए आप लोग नीचे लिस्ट के माध्यम से कारण जान सकते हैं

  • सिंधु और उसकी सहायक नदियों में नियमित रूप से बाढ़ आती थी
  • ईटों को जलाने के लिए लकड़ी की अति प्रयोग ने जंगलों को नष्ट कर दिया
  • उत्तर से आए आर्य उन पर आक्रमण कर सकते थे
  • संक्रामक रोगों के फैलने का भी असर हो सकता था
  • सिंधु घाटी सभ्यता का क्रमिक पतन का आरंभ अट्ठारह सौ ईसा पूर्व से माना जाता है

हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण क्या क्या है इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता जिस द्रुतगति से प्रकाश में आई थी उस गति से ही या भी नष्ट हो गई इसके पतन के लिए विद्वानों ने कई कारण बताए जैसे बाल आर्यों का आक्रमण होना जलवायु परिवर्तन वह तत्व के परिवर्तन व्यापार में गतिरोध प्रशासनिक के विशेष लता महामारी उन साधनों का अधिक उपयोग आदि विद्वानों ने बताया है हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण विद्वानों ने बताया है

सिंधु सभ्यता के पतन का मुख्य कारण क्या था/What was the main reason for the decline of the Indus Civilization?

सिंधु सभ्यता के पतन का प्रमुख कारण क्या क्या है इसके बारे में आप लोगों को बताने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि प्रसिद्ध भूख भार्गव शास्त्री साहनी का विचार है कि सिंधु सभ्यता के विनाश के प्रमुख कारण बहुत सारे हैं जैसे कि जल प्लावन था इस समय संभवत रवि एवं सिंधु नदी प्रवाह की दिशा में परिवर्तन होने अथवा बाढ़ आने से ऐसा हुआ होगा मार्शल मौके और आर यस यस आर सिंधु सभ्यता के पतन का मुख्य कारण है तो जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि सिंधु घाटी सभ्यता के अवसान के पीछे विभिन्न ने तर्क दिए जाते हैं जैसे आक्रमण जलवायु परिवर्तन एवं परिस्थिति के असंतुलन बाढ़ तथा भूत आत्मिक परिवर्तन महामारी आर्थिक कारण आधे ऐसे लगता है कि इस सभ्यता के पतन का कोई एक कारण नहीं था बल्कि विभिन्न कारणों के मेल से ऐसा हुआ जो अलग-अलग समय में या एक साथ होने की संभावना है

विश्व की सबसे बड़ी सभ्यता कौन सी है/what is the largest civilization in the world

विश्व की सबसे बड़ी सभ्यता कौन है तो आप लोगों को बता दें कि सबसे बड़ी सभ्यता क्षेत्रफल के नजरिए से सिंधु सभ्यता थी जिसे हड़प्पा सभ्यता के नाम से भी जानते हैं सिंधु सभ्यता का क्षेत्रफल 1 दशमलव 40 मिलियन वर्ग मील से भी ज्यादा था और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि दुनिया की पहली सभ्यता कौन सी है सुमेरी सभ्यता सबसे पुरानी है जिसका समय 35 वर्ष पूर्व माना जाता है प्रसिद्ध इतिहास बेटा लैंगडन के अनुसार मोहनजोदड़ो की लिपि और मोरे सुमेरी लिपि के मोहरों से मिलती है

हड़प्पा सभ्यता की खुदाई में क्या क्या मिला/What was found in the excavation of Harappa civilization

हड़प्पा सभ्यता की खुदाई में क्या मिला इसके बारे में आप लोगों को आज हम आप लोगों को बताने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा की खुदाई में पाकिस्तान के हड़प्पा मोहनजोदड़ो में करीब 100 साल पहले 1920 ईस्वी में सिंधु घाटी सभ्यता के अवशेषों को खुदाई में मिला तांबा क्या राजस्थान खेतड़ी की खानों से पहुंचाया गया था इस सवाल के जवाब ढूंढने के लिए अमेरिका और जयपुर के वैज्ञानिक व पुरातत्व एवं शोध शुरू करने जा रहे हैं हालांकि आप लोगों को बता दें कि मोहन जोदड़ो में उनके काम और समकालीन उत्खनन ने पहली बार दुनिया के ध्यान में भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे पुरानी शहरी संस्कृति के रूप में भूली हुई सिंधु घाटी सभ्यता का अस्तित्व को लाया था

सिंधु सभ्यता का मुख्य भोजन क्या था/What was the main food of the Indus Civilization

सिंधु सभ्यता के मुख्य भोजन कौन कौन है इसके बारे में आप लोगों को बताने वाले हैं तो आप लोगों को बता दें हालिया शोध में बताया गया है कि सिंधु घाटी सभ्यता के लोग मोटे तौर पर मांस बच्ची से वह गाय भैंस और बकरी के मांस खाते थे सिंधु घाटी क्षेत्र में मिले मिट्टी के बर्तन और खानपान के तौर तरीके इस शोध के आधार हैं और आप लोगों को बता दें कि यह लोग जानवर को चावल खिलाते हैं और स्वयं जो बाजरा गेहूं का सेवन करते थे डाले हरी सब्जियां और फ्रूट भी रोजे की डाइट में शामिल करते थे यह लोग मुर्गी और बता करते थे पालन रोज लेते थे अंडे और आप लोगों को बता दें कि यह लोग अपने सेहत पर बहुत ही अधिक ध्यान देते थे और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि हिंदू वासी का पवित्र जानवर क्या है तो आप लोगों को बता दें कि हिंदू वासी सांड को पवित्र जानवर मानते थे

हड़प्पा सभ्यता का अंत कैसे हुआ था/How did the Harappan civilization end?

हड़प्पा सभ्यता का अंत कैसे हुआ था इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले अपने इस पोस्ट के माध्यम से तो आप लोगों को बता दें कि अधिकांश विद्वानों के मतानुसार सभ्यता का अंत बाढ़ का प्रकोप से हुआ था लोगों का कहना है कुछ विद्वान लोग बता रहे हैं हालांकि चौकी सिंधु घाटी सभ्यता नदियों के किनारे किनारे विकसित हुई इसलिए बाहर आना स्वाभाविक था अतः यात्रा के सर्वमान्य है परंतु विद्वान मानते हैं कि केवल बाढ़ के कारण इतनी विशाल सभ्यता का समाप्त नहीं हो सकता हड़प्पा और मोहनजोदड़ो के बीच की दूरी 483 किलोमीटर है या दोनों ही क्षेत्र सिंधु नदी के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े हुए हैं हड़प्पा पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित नगर था जबकि मोहनजोदड़ो पाकिस्तान के सिंध प्रांत में स्थित नगर था दोनों ही नगर सिंधु घाटी सभ्यता के सबसे महत्वपूर्ण नगर रहे हैं हालांकि आप लोगों को बता दें कि सिंधु सभ्यता का मुख्य भोजन क्या क्या था तो एक हालिया शोध में बताया गया था कि सिंधु घाटी सभ्यता के लोग मोटे तौर पर मांस बच्ची थे वह गाय भैंस और बकरी के मांस खाते थे सिंधु घाटी क्षेत्र मिले मिट्टी के बर्तन और खानपान के तौर तरीके इस शोध के आधार हैं

हड़प्पा पर सबसे अधिक बार चित्रित जानवर कौन सा है/Which is the most frequently depicted animal on Harappa?

हड़प्पा पर सबसे अधिक बार चित्रित जानवर कौन सा है इसके बारे में आप लोगों को बताने वाले तो आप लोगों को बताने की हड़प्पा की मोहरो मोहरों मिट्टी के बर्तनों और अन्य कलाकृतियों में बाघ हाथी जैसे विभिन्न जंगली जानवरों के साथ-साथ यू निकालने जैसे पौराणिक जी ओके दर्शाया गया था जो शायद सबसे अधिक बार चित्रित किया गया जानवर था और धार्मिक या पौराणिक मान्यताओं से जुड़ा हो सकता है हालांकि आप लोगों को बता दें कि यहां पर 6:00 अनुपात 16 की दो पंक्तियां में निर्मित कुल 12 बच्चों वाले एक अन्य कार का अवसर प्राप्त हुआ जिनमें प्रत्येक का आकार 50 गुणा 20 मीटर का है जिनका कुल क्षेत्रफल 2745 से वर्ग किलोमीटर अधिक है हड़प्पा से प्रांत अन्ना गार नगर मंडी के बाहर रावी नदी से निकट स्थित है और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें हड़प्पा के लोग किसकी पूजा करते थे पशुपति हड़प्पा सभ्यता में पशुपति का प्रमुख देवता माना जाता था हालांकि आप लोगों को बता दें कि पशुओं की बहुत ही अधिक पूजा करते थे उपलब्ध ऐतिहासिक साक्ष्यों के अनुसार इन्हें जंगल और पशुओं के देवता के तौर पर पूजा जाता था

हड़प्पा सभ्यता में कौन सी फसलें उगाई जाती थी/What crops were grown in the Harappan civilization

हड़प्पा सभ्यता में कौन सी फसलें उगाई जाती थी इसके बारे में आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता की मुख्य फसलों में जो गेहूं कपास मटर तेल 8 फसलों थी हड़प्पा सभ्यता की खुदाई में प्रातः चीजों वस्तुओं का शोध से पता चलता था कि हड़प्पा सभ्यता में गेहूं जौ सरसों के पास मटर और तेल की फसलें उगाई जाती थी सिंधु घाटी सभ्यता की फसलें की अगर बात करें तो आप लोगों को बता दें सिंधु घाटी सभ्यता में जो गेहूं चावल के साथ-साथ अंगूर खीरा बैगन हल्दी सरसों झूठ कपास और तेल की भी पैदावार होती थी पशुपालन में गाय और भैंस मुक्त मवेशी थी और आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा के लोग गेहूं जो डाले मटर चावल तेल से रूम में सरसों गाते थे उन्होंने कुछ नए उपकरण भी विकसित किए जिन्हें हल के रूप में जाना जाता है और इसका उपयोग बीज बोने और मिट्टी को मरने मरने के लिए मिट्टी खोदने के लिए किया जाता था और आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा सभ्यता के लोग का भोजन क्या था तो यह लोग जानवरों को चावल खिलाते थे और स्वयं जो बाजरा गेहूं का सेवन करते थे डाले हरी सब्जियां और फ्रूट भी रोजे की डाइट में शामिल करते थे यह लोग मुर्गी और बता का पालन करते थे रोज अंडे का भी सेवन करते थे

विश्व में कितने सभ्यता हैं/how many civilizations are there in the world

तो आप लोगों को बता दें कि विश्व में कितनी सभ्यता है आज से लगभग 5000 वर्ष पहले विश्व के अनेक भागों में कई सभ्यताओं का जन्म हुआ इसमें मिश्र की सभ्यता मेसोपोटामिया की सभ्यता सिंधु घाटी की सभ्यता बेबीलोन की सभ्यता चीन की सभ्यता इतिहास प्रमुख थी यह सभी सभ्यताओं सामान्यतया नदियों के किनारे विकसित हुई हालांकि आप लोगों को बता दे सभ्यता विश्व में सबसे पुरानी सभ्यता है इसका समय 3500 वर्ष पूर्व माना जाता है और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि पहली सभ्यता कब हुई थी पहले सभ्यताएं 4000 और 3000 ईसा पूर्व के बीच विकसित हुई जब कृषि और व्यापार के उदय ने लोगों को अधिशेष भोजन करें आर्थिक स्थिरता के अनुमति भी बहुत से लोगों को अब खेती का अभ्यास नहीं करना पड़ता जिससे अपेक्षाकृत समिति क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के व्यवसाय और दोषियों का पनपने की अनुमति मिलती है

प्रथम सभ्यता कहां विकसित हुई/where did the first civilization develop

प्रथम सभ्यता कहां विकसित हुई इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप लोगों को बताने की पूर्ति आसानी से होने के कारण विश्व का प्राचीनतम सभ्यताएं नदियों के किनारे ही विकसित हुई इसलिए इन सभ्यताओं को नदी घाटी सभ्यता भी कहते हैं हालांकि आप लोगों को बता दें इनमें आप रेखा के उत्तर पूर्वी भाग में स्थित है कि सभ्यता सबसे पुराना है या नील नदी के घाटी में विकसित हुई थी और जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि प्रमुख के विश्व सभ्यता क्या है तो प्राचीन दुनिया में आठ अलग-अलग सभ्यताओं का उदय हुआ मेसोपोटामिया में समाया भारत से कांग्रेस और पारस इन प्राचीन समाजों में कौनसी सामान्य विशेषताएं थी उन्हें क्या खास बना दिया हालांकि आप लोगों को बता दें कि दर्शकों प्रत्येक सभ्यता के उत्थान और पतन भी पता लगाएं और आप लोगों को बता दें सिंधु घाटी सभ्यता 3300 -1700 ईसा पूर्व विश्व को प्राचीन नदी घाटी सभ्यता में से एक प्रमुख सभ्यता थी या हड़प्पा सभ्यता और सिंधु सरस्वती सभ्यता के नाम से भी जानी जाती है

प्राचीन भारत का इतिहास क्या है/what is the history of ancient india

जानकारी के लिए आप लोगों को बताने वाले हैं कि प्राचीन भारत का इतिहास क्या है तो प्राचीन भारत के इतिहास में वैदिक सभ्यता सबसे प्रारंभिक सभ्यता है जिसका संबंध है आर्यों के आगमन से है इसका नामकरण आर्यों के प्रारंभिक साहित्य वेदों के नाम पर किया गया है आर्यों की भाषा संस्कृति थी और धर्म वैदिक धर्म या सनातन धर्म के नाम से प्रसिद्ध था बाद में विदेशी आक्रांता और द्वारा इस धर्म का नाम हिंदू पड़ा जानकारी के लिए आप लोगों को बताने वाले हैं कि भारत का सबसे पुराना इतिहास कौन सा है तो आप लोगों को बता दें कि सोने के सींग वाला बैल 1807 पूर्वोत्तर भारत और पाकिस्तान से जुड़े प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता से है या बेल हरियाणा में मिला था पश्चिम एशिया में सिंह का सुनहरा करने का चलन आम था बेसाल्ट पत्थर 250 ईसा पूर्व पर खुदा सम्राट अशोक का एक आदेश जिन्होंने प्राचीन भारत के अधिकांश विभागों पर राज किया था

हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है Video

निष्कर्ष/Conclusion

जानकारी के लिए आप लोगों को बता दें कि उपरोक्त पोस्ट और लिस्ट के माध्यम से हम आप लोगों को यही जानकारी प्रदान किए हैं कि हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का विस्तार कितना है हड़प्पा सभ्यता का विस्तार के कारण कौन-कौन है तो आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा का विस्तार दक्षिण और पूर्व की दिशा में हुआ हड़प्पा सभ्यता में जल निकासी प्रणाली बहुत प्रभावी है हड़प्पा सभ्यता का भौगोलिक विस्तार क्या है इसके बारे में आप लोगों को बताया गया हड़प्पा सभ्यता का पतन कैसे हुआ था और हड़प्पा सभ्यता के लोग किस तरह के निवासी थे हड़प्पा सभ्यता के बर्बाद होने के कारण कौन-कौन से तो आप लोगों को बता दें कि सिंधु और उसकी सहायक नदियों में नियमित रूप से बाढ़ आती थी और उत्तर से आए आर्य उन पर आक्रमण कर सकते थे सिंधु घाटी सभ्यता को क्रमिक बताने का आरंभ अट्ठारह पूर्व से माना जाता है संक्रामक रोगों के फैलने का असर भी हो सकता था और आप लोगों को बताया गया कि सिंधु सभ्यता के पतन के मुख्य कारण कौन कौन है और विश्व की सबसे बड़ी सभ्यता कौन सी है इसके बारे में आप लोगों को पूरी जानकारी दिया गया तो आप लोगों को बता दें हड़प्पा सभ्यता की खुदाई में क्या मिला था तो हालांकि आप लोगों को बता दें कि हड़प्पा की खुदाई में आप लोगों को बता दें कि तांबा मिला था और सिंधु सभ्यता की मुख्य भोजन क्या है इसके बारे में भी आप लोगों को पूरी जानकारी दिया गया अब लोगों को बताया गया है कि हड़प्पा सभ्यता का अंत कैसे हुआ था डप्पा पर सबसे अधिक बार चित्रित जानवर कौन से हैं इसके बारे में आप लोगों को बताया गया हड़प्पा सभ्यता में कौन सी फसलें उगाई जाती है तो आप लोगों को बता दें कि सिंधु घाटी सभ्यता में जो गेहूं चावल के साथ हल्दी सरसों का तेल तेल का भी पैदावार होता है और आप लोगों को बताया गया कि सभ्यता सभ्यता विकसित हुई थी प्राचीन भारत का इतिहास के बारे में भी आप लोगों को पूरी जानकारी दें हड़प्पा की पूरी डिटेल जानकारी प्राप्त करने के लिए आप लोग उपरोक्त पोस्ट के माध्यम से बहुत ही आसानी से इंफॉर्मेशन प्राप्त कर सकते हैं

हड़प्पा सभ्यता का पूर्व से पश्चिम तक का कितना है?

हडप्पा सभ्यता का कुल क्षेत्रफल 12,99,600 वर्ग किमी. है। अनुमानतः हड़प्पा सभ्यता का विस्तार उत्तर से दक्षिण तक 1100 किमी. तथा पूर्व से पश्चिम तक 1550 किमी. है।

भारतीय घाटी सभ्यता का विस्तार कितने स्थानों पर है?

सिंधु नदी के तट पर सिंध प्रांत में। सिंधु नदी के तट पर। राजस्थान में घग्गर नदी के किनारे। गुजरात में कैम्बे की कड़ी के नजदीक भोगवा नदी के किनारे पर स्थित।

हड़प्पा सभ्यता का दूसरा नाम क्या है?

सिंधु घाटी सभ्यता (3300-1700 ई. पू.) विश्व की प्राचीन नदी घाटी सभ्यताओं में से एक प्रमुख सभ्यता थी. यह हड़प्पा सभ्यता और सिंधु-सरस्वती सभ्यता के नाम से भी जानी जाती है

विशाल स्नानागार कहाँ स्थित है?

महास्नानघर सिन्धु घाटी सभ्यता के प्राचीन खंडहर शहर मोहन जोदड़ो में स्थित एक प्रसिद्ध हौज़ है। वर्तमान समय में यह पाकिस्तान के सिंध प्रांत में आता है।

हड़प्पा सभ्यता के जनक कौन है?

 हड़प्पा के खंडहरों का पहला वर्णन बलूचिस्तान, अफगानिस्तान और पंजाब के चार्ल्स मैसन की विभिन्न यात्राओं के वर्णन में मिलता है। यह 1826 से 1838 की अवधि के लिए है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment