परमाणु और अणु क्या होते हैं || Paramaanu Aur Anu kya hote hain || प्रकार ,परिभाषा, खोज

परमाणु और अणु क्या होते हैं: नमस्कार दोस्तों आज हमारे इस वेबसाइट में आने के लिए आप लोगों को बहुत-बहुत धन्यवाद आज हम आप सभी लोगों को अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आप लोगों को परमाणु और अणु के बारे में सारी चर्चा करेंगे और आप लोगों को हम यहां पर या जानकारी बताएंगे कि प्रमाण क्या है तथा और क्या है इन दोनों का निर्माण कैसे और किस तरीके से होता है इसकी पूरी उदाहरण सहित जानकारी हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आप लोगों को मिलेगी तो दोस्तों आइए हम जानते हैं कि प्रमाण क्या है और मैं आप लोगों को यह भी जानकारी देने वाला हूं कि प्रमाण किसे कहते हैं और किसे कहते हैं परमाणु की परिभाषा क्या है तथा प्रमाण कितने प्रकार के होते हैं परमाणु और अणु में क्या होते हैं इसकी पूरी उदाहरण सहित जानकारी और प्रमाण किसके द्वारा मिलकर बना हुआ है परमार की खोज कब और किसने किया तथा अलवर प्रमाण के लक्षण क्या-क्या हैं उनकी खोज किसने किया था रदरफोर्ड का नियम तथा डाल्टन का नियम और ऐड में तथा प्रमाण में क्या अंतर है इन सभी के बारे में सारी जानकारी आप लोगों को हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से मिलेगी जिससे आप लोग जानकर बहुत ही आनंद महसूस करेंगे तो दोस्तों आप लोगों को यह जानकारी जानना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि यह आपके प्रतियोगी परीक्षाओं में भी या प्रश्न पूछा जा रहा है जो कि आप लोग इसका जानकारी अगर रहती है तो आप लोगों को आज उत्तर देने में आसानी होती है तो आप लोग इसे जरूर से जाने

परमाणु किसे कहते हैं? Paramaanu Kise Kahate Hain

दोस्तों अब हम आप सभी लोगों को प्रमाण किसे कहते हैं इसके बारे में हम आप लोगों को सारी जानकारी को बताएंगे दोस्तों बता दे कि परमाणु तथा आयु में बहुत विभिन्न अंतर पाए जाते हैं तो आप लोगों को हम यहां पर प्रमाण के बारे में जानकारी देना चाहता हूं परमार किसी पदार्थ का हुआ संभव सूक्ष्म कालेजों स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकता परंतु रसायनिक अभिक्रिया में भाग लेता है तथा जिसमें उस पदार्थ की सभी गुण विद्यमान रहते हैं उसे हम प्रमाण कहते हैं और आप लोगों को बता दें कि प्रमाणित से संबंधित डाल्टन ने बहुत सारे अपने मतों को बताया है कि डाल्टन के अनुसार परमाणु अविभाज्य था परंतु आधुनिक खोजों से अज्ञात हो चुका है कि प्रमाण भी सूचना कणों से मिलकर बना होता है जिनमें इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन मुख्य रूप से पाए जाते हैं एक तत्व के परमाणु का भार भी दूसरे तत्व के परमाणु के बाहर से भिन्न होता है उदाहरण के तौर पर देखा जाए तो आप लोग को बता दें कि हाइड्रोजन के लिए सभी प्रमाण एक समान एवं एक रूप होते हैं और कार्बन के सभी प्रमाण आपस में समरूप एवं समान रुप में होते हैं किंतु हाइड्रोजन और कार्बन की परमाणु एक दूसरे से पूरी तरह से भिन्न होते हैं

अणु किसे कहते हैं || Anu kise kahate hain||

अब हम आप सभी लोगों को अणु के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि अणु किसे कहते हैं तो दोस्तों हम आप लोगों को यहां पर लड़की पूरी विशेषताएं हम आप लोगों को बताएंगे तो दोस्तों मैं आप लोगों को बता दे कि आलू किसी पदार्थ का वास्तु उच्चतम कल है जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता है परंतु रसायनिक अभिक्रिया में प्रतिक्रियाओं में भाग नहीं ले सकता तथा जिसमें उस पदार्थ की सभी गुण विद्यमान रहते हैं उसे हम अणु कहते हैं एक पदार्थ के सभी अणु हर प्रकार से एक दूसरे के समान होते हैं द्रव्यमान में तथा आकार में और गोल आदमी दृष्टिकोण से एक ही तकिया योगिक एक दूसरे से अभिन्न आगे होते हैं परंतु किन्हीं दो भिन्न पदार्थों के अणु एक दूसरे से बिल्कुल अलग अलग होते हैं उदाहरण के लिए देखा जाए तो जल आपस में एक समान रहते हैं इसी प्रकार से नमक के सभी अनुप्रास पर एक समान होते हैं

परमाणु की परिभाषा क्या है? // Paramaanu kee paribhaasha kya hai?

आप लोग को हम बता दें कि परमाणु किसी पदार्थ का वह सूक्ष्म कण है जो स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकता है परंतु रसायनिक अभिक्रिया में वह स्वयं भाग लेता है और मैं आप लोगों को बता दूं कि जिसमें उन पदार्थ के सभी गुण विद्यमान उसे हम परमाणु कहते हैं प्रमाण पर डाल्टन ने बहुत सारे अपने मतों को प्रस्तुत किया है दोस्त बता दे कि डाल्टन के अनुसार देखा जाए परमाल अविभाज्य है प्रिंस आधुनिक खोजों से अज्ञात हो चुका है कि प्रमाण भी सूक्ष्म कणों से मिलकर बना होता है जिनमें इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन तथा न्यूट्रॉन मुख्य रूप से पाए जाते हैं किसी तत्व के सभी प्रमाणित समरूप होते हैं किंतु दूसरे तत्वों के परमाणु से बिल्कुल भिन्न होते हैं उदाहरण तौर पर देखा जाए तो बता दे कि हाइड्रोजन के सभी प्रमाण एक समान रूप से होते हैं और इसी तरह से देखा जाए तो कार्बन के भी प्रमाण एक समान होते हैं किंतु हाइड्रोजन और कार्बन के प्रमाण एक दूसरे से पूरी तरह से भिन्न होते हैं

परमाणु कितने प्रकार के होते हैं? || Paramaanu kitane prakaar ke hote hain||

अब हम यहां पर आप लोग को या जानकारी देने वाले हैं कि परमाणु कितने प्रकार के होते हैं तो दोस्तों बता दे कि परमाणु मुख्यतः तीन भागों से मिलकर बना है और बता दे कि इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन तथा न्यूट्रॉन एक प्रमाण के संगठक कर हैं जो इन सभी तीनों से मिलकर कर एक प्रमाण का निर्माण होता है हालांकि हाइड्रोजन एक के परमाणु में कोई न्यूट्रॉन नहीं है इलेक्ट्रॉन पर एक ऋण आत्मक आवेश होता है इसका आकार बहुत ही छोटा होता है तो इस तरह से हमने आप सभी लोग को परमाणु के प्रकार के बारे में आप लोगों को जानकारी बताया कि परमाणु कितने प्रकार के होते हैं तो यह जानकारी आप लोग को बहुत ही अच्छी समझ में आ गई होगी तो अब हम आप लोग को यहां पर या जानकारी देने वाले हैं कि परमाणु और अणु क्या होते हैं तथा उनके उदाहरण क्या है इसकी भी जानकारी हम अपनों को अगले पैराग्राफ में बताएंगे

परमाणु और अणु क्या होते हैं उदाहरण सहित? || paramaanu aur anu kya hote hain udaaharan sahit ||

अब हम आप सभी लोगों को परमाणु और अणु क्या होते हैं इसके उदाहरण सहित पूरी जानकारी को हम बताएंगे दोस्त बता दें कि परमाणु किसी पदार्थ का वह सूक्ष्म कण है जो स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकता परंतु रसायनिक अभिक्रिया में वह स्वयं भाग लेता है और जिसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं उसे हम प्रमाण करते हैं और अणु की बात करें तो बता दे कि और किसी पदार्थ का वह सूक्ष्म कण है जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता है परंतु रसायनिक अभिक्रिया हूं मैं वह भाग नहीं ले सकता इसमें उस पदार्थ के सभी गुण विद्यमान रहते हैं उसे हमअणु कहते हैं

एक पदार्थ के सभी अरुण हर प्रकार से एक दूसरे के समान होते हैं ब्राह्मण में तथा आकार और गुड़ आदमी मैं एक चित्र तथा योगिक एक दूसरे के अभिन्न अंग होते हैं तुरंत किन्हीं दो पर भिन्न पदार्थों के अणु एक-दूसरे से बिल्कुल अलग किस्म के होते हैं उदाहरण के लिए देखा जाए तो जल के सभी अणु आपस में समान होते हैं

और दूसरी बात करें तो बता दे कि परमाणु डाल्टन के अनुसार अविभाज्य है प्रिंट आधुनिक खोजों से अज्ञात हो रहा है कि प्रमाण भी सूचना करो से मिलकर बना हुआ है जिनमें आप लोग को इलेक्ट्रॉन तथा प्रोटॉन और न्यूट्रॉन जैसे अरुण से मिलकर प्रमाण तैयार किया गया है और यह एक दूसरे तत्व से बिल्कुल भिन्न होते हैं

उदाहरण:-तो बता दे कि उदाहरण के लिए देखा जाए तो हाइड्रोजन के सभी प्रमाण एक समान एवं एक रूप होते हैं परंतु कार्बन के सभी प्रमाण आपस में समरूप एवं एक समान होते हैं किंतु हाइड्रोजन और कार्बन के प्रमाण एक दूसरे से पूरी तरीके से अलग-अलग होते हैं

परमाणु किससे मिलकर बनता है? || paramaanu kisase milakar banata hai ||

परमाणु किससे बना होता है इसके बारे में भी आप लोगों को जानकारी हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से मिलेगी तो मैं आप लोगों को बता दूं कि प्रमाण इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन तथा न्यूट्रॉन के मुख्य घटकों से बना हुआ है और इन तीनों के द्वारा प्रमाण का निर्माण होता है जो किसी तत्व के सभी प्रमाण समरूप होते हैं किंतु दूसरे तत्वों के परमाणु से बिल्कुल भिन्न होते हैं तो इस तरह से आप लोग को हमने यहां पर जानकारी बताया कि प्रमाण किससे बना होता है तथा प्रमाण क्या है तो आप लोग इस विषय से संबंधित आप लोगों को बहुत ही अच्छी से अच्छी से अच्छी जानकारी हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से आप लोगों को मिल रही है तो आप लोग जुड़े रहे हैं हमारे साथ अंततः जिससे कि आप लोग अच्छी से अच्छी जानकारी आप लोग प्राप्त कर सके

परमाणु की खोज किसने की और कब की?|| paramaanu kee khoj kisane kee aur kab kee||

अब हम जानकारी के लिए यह बताने वाले हैं कि परमाणु की खोज कब और किसने किया था यह जानकारी को आप लोग बहुत ही आसानी और सरलता से हमारे इस पैराग्राफ के माध्यम से आप लोगों को मिल सकती है तो आप लोग इसे जरूर से ध्यान पूर्वक से पढ़ें और आप लोग पढ़ करके आप लोग इसके प्रश्नों का उत्तर आप लोग प्राप्त कर सकते हैं दोस्तों बता दे कि वैज्ञानिक तौर पर माना जाता है कि ब्रिटिश केमिस्ट जॉन डाल्टन ने 1803 ईस्वी में प्रमाण की खोज की थी सबसे पहले परमाणु की खोज डाल्टन ने किया था और आप लोग को हम बता दें कि जो परमाणु है वह छोटे-छोटे कणों से मिलकर बना होता है इस सिद्धांत के अनुसार देखा जाए तो एक परमाणु नाभिक प्रोटॉन और न्यूट्रॉन होते हैं इसके अलावा भी नाभि के चारो और इलेक्ट्रॉन चक्कर लगाते हैं जॉन डाल्टन ने कहा कि यदि 2 से 2 अधिक परमाणु मिलकर अणु का निर्माण करते हैं

हमने आप सभी लोगों को प्रमाण की खोज कब और किसने किया था इसकी बारे में सारी जानकारी को हमने आप लोगों को बताया है तो दोस्तों मैं आप लोगों को बता दें कि हमारी या जानकारी बहुत ही अच्छी लगी होगी अगर आप लोगों ने इसे ध्यान पूर्वक से पढ़ा होगा तो आशा करते हैं कि आप लोग इसके बारे में सारी जानकारी को अच्छी तरीके से जाना होगा और हम आप लोगों को और भी अच्छी से अच्छी जानकारी इस विषय से संबंधित हम आप लोगों को बताएंगे जिसे आप लोग ध्यान पूर्वक से पढ़ें

अणु तथा परमाणु के लक्षण || anu tatha paramaanu ke lakshan ||

अब हम आप सभी लोगों को ऐड तथा प्रमाण के लक्षण के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि इन दोनों में क्या विशेष लक्षण दिखाई देते हैं जिन्हें हम और कहते हैं तथा दूसरे को परमाणु कहते हैं तो आइए हम आप लोगों को बताते हैं कि इन दोनों का लक्षण क्या है जो कि जिसे हम ऐड करते हैं और किस कारण से हम इसे परमाणु कहते हैं इसी प्रकार से A3 के आरोप में दो कार्बन परमाणु एक युवा बंद द्वारा बंधित होते हैं तथा C2H4 अणु जब संयोजी परमाणुओं के मध्य 3 इलेक्ट्रॉनिक युग्मों का सहभाजन होता है जैसे कि देखा जाए तो N अली के दो नाइट्रोजन प्रमाण के मध्य स्थान में दो कार्बन परमाणु के मध्य है तब उनके मध्य एक त्रि-आबंध का निर्माण होता है

परमाणु के लक्षण:-

परमाणु का द्रव्यमान 99.94 प्रतिशत से अधिक भाग नाभिक में होता है भूटान पर सकारात्मक विद्युत आवेश होता है इलेक्ट्रॉन पर नकारात्मक विद्युत आवेश होता है और न्यूट्रॉन पर कोई भी विद्युत आवेश नहीं पाया जाता है दोस्तों बता दे कि एक प्रमाणिक के इलेक्ट्रॉन इस विद्युत चुंबकीय बल द्वारा एक परमाणु के नाभिक भूटान की ओर आकर्षित होता है

 अणु के लक्षण

दोस्तों मैं आप लोगों को बता दें कि अणु एक दूसरे से किसी ना किसी बंधन में रहते हैं इनका स्वतंत्र अस्तित्व नहीं होता है कई अणु एक दूसरे से जुड़े होते हैं और एक अणु को अलग नहीं किया जा सकता है अणु उनमें कोई विद्युत आवेश नहीं होता है और एक तत्व के परमाणु से मिलकर बने हो सकते हैं तथा अलग-अलग तत्वों के प्रमाण से मिलकर अणु का निर्माण होता है

अणु की खोज किसने की और कब की? || anu kee khoj kisane kee aur kab kee||

अब हम आप सभी लोगों को अरब की खोज कब और किसने किया इसके बारे में हम सारी जानकारी यहां पर देने वाले हैं दोस्तों बता दे कि अणु की खोज चरक ऋषि कितने अणु और परमाणु की खोज की चरक ऋषि ने अणु परमाणु के विचार को आगे बढ़ाया योग को पूरी दुनिया ने स्वीकार किया वैज्ञानिक तौर पर माना जाता है कि ब्रिटिश केमिस्ट जॉन डाल्टन 1803 ईसवी में परमाणु की खोज किया था

रदरफोर्ड का परमाणु नियम || Radaraphord Ka Paramaanu niyam||

अब हम आप सभी लोगों को रदरफोर्ड का नियम के बारे में हम आप लोगों को जानकारी देने वाले हैं कि अगर आप लोग रदरफोर्ड का नियम नहीं मालूम है तो आज मारे इस आर्टिकल के माध्यम से आप लोग रदरफोर्ड के नियमों का पूरा जानकारी आप लोग प्राप्त कर सकते हैं तो दोस्तों बता दे कि अगर आप लोग रदरफोर्ड की पूरी नियम जानना चाहते हैं तो आप लोग इसे ध्यान पूर्वक सेवा करके इसकी सारी जानकारी को आप लोग जान सकते हैं बता दें कि दोस्तों रदरफोर्ड ने कहा कि नाभि के चारो और इलेक्ट्रॉन वृत्ताकार कक्षाओं में घूमते हैं जिनमें कक्षा कहा जाता है और मैं आप लोगों को बता दूं कि इन कक्षाओं में इलेक्ट्रॉन बहुत तेजी से घूमते हैं तो मैं आप लोगों को बता दूं कि इसलिए या परमाणु मॉडल सौरमंडल से मिलता जुलता है जिससे सूर्य नाभिक होता है और ग्रह गतिमान इलेक्ट्रॉन की तरह होते हैं तो इस तरह से रदरफोर्ड का नियम कहलाता है जो कि रदरफोर्ड ने अपने अनुसार इस नियम को रखा है

डाल्टन का परमाणु नियम || Daaltan ka paramaanu niyam||

अब हम आप सभी लोगों को डाल्टन का परमाणु नियम आप लोग को बताने वाले हैं तो आप लोगों को हम यहां पर यह जानकारी बहुत ही विस्तार से बताएंगे दोस्तों बता दे कि डाल्टन ने अपने मत को रखा है इस विषय में कि परमाणु किस सिद्धांत पर कार्य करता है इसकी जानकारी को आप लोग जान सकते हैं दोस्त बता दे कि डाल्टन के अनुसार प्रत्येक पदार्थ छोटे-छोटे कणों से मिलकर बना होता है जिन्हें हम परमाणु कहते हैं और परमाणु को किसी भी भौतिक तथा रासायनिक विधियों में विभाजित नहीं किया जा सकता है यह डाल्टन का परमाणु नियम कहलाता है और दोस्त बता दे कि परमाणु को किसी भी भौतिक तथा रासायनिक विधि से विभाजित नहीं किया जा सकता है और बात करें तो बता दे कि पदार्थ हमेशा से ही वैज्ञानिक के बीच शोध का अर्थ महत्वपूर्ण विषय रहा है और डाल्टन का यह परमाणु नियम कहा जाता है

थॉमसन का परमाणु मॉडल ||Thomasan ka paramaanu modal||

अब हम आप सभी लोगों को यहां पर यह जानकारी देने वाले हैं कि थॉमसन का परमाणु मॉडल क्या है जो कि थॉमसन ने बहुत ही अच्छी परमाणु मॉडल पर अपना फोकस दिया और आप लोगों को बता दें कि थॉमसन के अनुसार परमाणु मॉडल एक धना आवेशित गोलाकार होता है जिसमें इलेक्ट्रॉन विद्यमान रहते हैं प्रमाण में धन आवेश युक्त प्रोटॉन और ऋणावेश युक्त होता है होता है इलेक्ट्रॉन का मान समान होता है इसलिए परमाणु उदासीन होता है तो इस तरह से थॉमसन का परमाणु मॉडल कहा जाता है जो कि थॉमसन ने अपने परमाणु मॉडल पर बहुत अच्छा फोकस दिया है और थॉमसन ने अपने इस परमाणु मॉडल पर बहुत ही ज्यादा विशेष गुण को निकाला है

अणु और परमाणु में अंतर || Anu aur paramaanu mein antar||

अब हम आप सभी लोगों को अणु और परमाणु में क्या अंतर पाए जाते हैं जो कि हम आप लोगों को इन दोनों में पूरी विशेष अंतर आप लोग बताएंगे जो कि आप लोगों को अणु और परमाणु में क्या विशेष अंतर है इसकी जानकारी को आज आप लोग बहुत ही आसानी के साथ हमारे दिए गए टेबल के माध्यम से आप लोग प्राप्त कर सकते हैं तो दोस्तों आप लोगों को हम बता दें कि आप लोग नीचे दिए गए टेबल को पढ़े और टेबल को पढ़ सके इन दोनों में विशेष अंतर के बारे में पूरी जानकारी को आप लोग जाने

अणु परमाणु
दो या दो से अधिक परमाणुओं के रासायनिक बंधन द्वारा अणु की रचना होती हैपरमाणु दो या दो से अधिक स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकते हैं
किसी योगिक की सबसे छोटी इकाई या कल होता है जो स्वतंत्र अवस्था में रह सकता हैपरमाणु अपनी बाहरी कक्षाओं में स्थित इलेक्ट्रॉनों की संख्या को संतृप्त करने के लिए दूसरे प्रमाण से क्रिया करते हैं
अणु भी परमाणु की तरह ही अत्यंत सच में होते हैं किंतु इन्हें उच्च क्षमता वाले सूक्ष्मदर्शी से देखा जा सकता हैपरमाणु का आकार और वो की अपेक्षा कुछ बड़े होते हैं
अणु स्वतंत्र अवस्था में रहते हैंपरमाणु का आकार प्राया गोलाकार होता है
अणु का आकार रेखीय कोड़िए या त्रिकोणीय होता हैकिसी प्रमाण का केंद्र न्यूक्लियस कहलाता है
अनु की रचना समान परमाणु से भी हो सकती हैपरमाणु के केंद्र में न्यूट्रॉन और प्रोटॉन नामक पड़े होते हैं
अणु सिंगल डबल या त्रिपल बांध में बंधे रहते हैंपरमाणु में प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉनों की संख्या पर प्रमाण का आवेश निर्भर करता है
अणु और परमाणु में अंतर

दोस्तों हमने आप सभी लोगों को अणु और परमाणु में क्या विशेष अंतर है इसकी पूरी जानकारी हमने एक टेबल के माध्यम से बताया है जो कि आप लोग अगर टेबल को पढ़े होंगे तो अणु तथा परमाणु में क्या अंतर है इसकी सारी जानकारी को आप लोगों ने जाना होगा तो अब आप लोगों को हमने पूरी जानकारी अणु तथा परमाणु से संबंधित पूरी जानकारी आप लोग को बता दिया है आशा करते हैं कि आप लोगों को हमारी यह जानकारी बहुत ही अच्छी लगी होगी

निष्कर्ष || Nishkarsh||

दोस्तों हमने आप सभी लोगों को अणु तथा परमाणु में क्या विशेष अंतर पाया जाता है इसके बारे में सारी जानकारी हमने दिया है तथा अणु का खोज कब और किसने किया इसकी भी जानकारी हमने बताया और रदरफोर्ड का नियम तथा डाल्टन का परमाणु नियम और थॉमसन का परमाणु नियम हमने आप सभी लोगों को बहुत ही अच्छी तरीके से बताया है तो दोस्तों आप लोगों को हम बता दें कि जितनी भी जानकारी हमने आप सभी लोग को यहां पर दिया है वह सभी इंटरनेट और गूगल के माध्यम से बताया है अगर आप लोगों को इसमें कोई भी जानकारी गलत लग रही है तो आप लोग इसमें हमें कोई भी दोष ना दें और आप लोगों को हम यहां पर जो भी जानकारी देते हैं वह सभी इंटरनेट के माध्यम से ही बताते हैं जिससे कि आप लोग आसानी के साथ इन सभी विषयों के बारे में अच्छी से अच्छी जानकारी आप लोगों को प्राप्त हो सके तो आशा करते हैं कि आप लोगों को हमारी जानकारी बहुत ही अच्छी लगी होगी और जितनी भी जानकारी हमने बताया है वह मैं दावे के साथ नहीं कहता हूं कि हमारी सारी जानकारी 100% सत्य ही हो सकता हो अगर इसमें कोई भी गलती पाते हैं तो आप लोग इसमें हमें कोई भी दोस्त ना दे और इसमें हमारी कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी

Sharing Is Caring:

Leave a Comment